adsence

NRHM में ट्रांसफर पॉलिसी लागू

Tuesday, March 10, 2015

झालावाड़। एनआरएचएचम में कार्यरत कर्मचारियों के लिए भी अब राज्य सरकार ने उनके गृह जिले में जाने का रास्ता खोल दिया है। सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में नेशनल रूरल हैल्थ मिशन (एनआरएचएम) के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों के स्थानांतरण उनके स्वयं के जिलों में किए जा सकेंगे।

इसके लिए कर्मचारी को ऑनलाइन स्थानांतरण आवेदन स्वयं की ई-मेल आईडी से जयपुर स्थित कार्यालय में मेल करना होगा। स्थानांतरण में मिलीभगत रोकने के लिए विभाग ने सीधे ई-मेल आईडी से ही आवेदन स्वीकार करने का विकल्प अपनाया है।

इसके तहत ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर, आईईसी समन्वयक समेत आशा फेसिलेटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर आशा पर्यवेक्षक, लेखाकारों, कम्प्यूटर ऑपरेटरों के स्थानांतरण किए जाएंगे। जबकि जीएनएम व एएनएम के स्थानांतरण नहीं होंगे।

ये बनाई नीति
विभाग ने गृह जिले में कर्मचारियों को भेजने के लिए तीन जिलों को आवेदन में भरकर भेजना होगा। इसके बाद पूरे राज्य से आए आवेदनों की छंटनी के आधार पर किसी जिले के लिए अधिक आवेदन आए तो ऎसी जगह पर कर्मचारियों की मनमाफिक जगह भेजने के लिए उच्चाधिकारियों द्वारा साक्षात्कार लिए जाएंगे। अधिक आवेदन आने पर साक्षात्कार में आए अंकों के आधार पर गृह जिले में जाने का फैसला उच्चाधिकारियों द्वारा किया जाएगा।

टीकाकरण के लिए बैठक आज
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में राष्ट्रीय कार्यक्रमों व टीकाकरण व अन्य बीमारियों से बचाव के लिए जिले के सभी ब्लॉक में सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे से बैठक का आयोजन किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.साजिद खान ने बताया कि अकलेरा, सुनेल, डग, बकानी, खानपुर, झालरापाटन ब्लॉक में ये बैठके होंगी। इन बैठकों में ब्लॉक मुख्य चिकित्साधिकारी समेत आरसीएचओ व अन्य अधिकारी मौजूद रहेंगे।

भर्ती की कवायद
सूत्रों ने बताया कि जयपुर स्थित एनआरएचएचम कार्यालय द्वारा स्थानांतरण के बाद खाली रही जगह के बारे में सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से जानकारी मांगी जाएगी। स्थानांतरण के बाद जिले में खाली रहे पदों को भरने के लिए जयपुर स्थित एनआरएचएम कार्यालय के माध्यम से भर्तियां निकाली जाएंगी। इसी आधार पर आगामी भर्ती होगी। ये भर्तियां संभवत अप्रेल के प्रथम सप्ताह में निकलने की संभावना हैं।

इसलिए किया बदलाव
सूत्रों ने बताया कि एनआरएचएम के तहत कार्यरत कर्मचारी परियोजना के अधीन कार्यरत है, लेकिन इनमें कई कर्मचारी विभिन्न जिलों में दूर के जिलों के कार्य कर रहे हैं। इसके चलते राज्य सरकार ने कर्मचारियों के स्वयं के जिले में जाने के बाद खाली रहे पदों के बारे में उसी जिले के अभ्यर्थी को मौका देने के लिए ये बदलाव किया है। इससे जहां ग्रामीण क्षेत्रों में पदो पर जिले के कर्मचारी आसानी से कार्य कर सकेंगे। वर्तमान में कई जिलों में बाहर से आकर कार्य करने वाले कर्मचारी अवकाश लेकर चले जाते हैं, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में अभियान का मकसद पूरा नहीं हो पाता।

80 कर्मचारी हैं जिले से बाहर के
जिले में 150 से अधिक कर्मचारी इन पदों पर कार्यरत हैं। इनमें करीब 80 कर्मचारी जिले से बाहर के हैं। ऎसे में जिले से बाहर रहने वाले कर्मचारियों के स्थानांतरण का रास्ता साफ हो गया हैं।

जिले में एनआरएचएचम में कार्यरत कर्मचारियों के स्थानांतरण ऑनलाइन आवेदन द्वारा स्वयं की ई-मेल आईडी से किए जा सकेंगे। 10 मार्च इसकी अंतिम तिथि हैं। अभी जीएनएम व एएनएम के स्थानांतरण नहीं होंगे।
डॉ.साजिद खान
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

Share on :

addthis2

-----------
 
Copyright © 2015 The Bhaskar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah