adsence

रेप के बाद गुप्तांग में चाकू घुसा गया था हत्यारा

Sunday, July 24, 2016

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार को हुई 25 साल की अल्का के रेप और मर्डर केस में पुलिस ने कुछ हिस्ट्रीशीटरों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा पुलिस ने कुछ कागज के टुकड़े बरामद किए हैं, जो कि फाड़ कर डस्टबिन में फेंके गए थे। इन कागजों पर आई मिस यू, आई लव यू जैसी शब्द लिखे हुए थे।

अल्का के प्राइवेट पार्ट में पाया गया चाकू जैसा नुकीला टुकड़ा...
जांच में यह सामने आया कि अल्का के प्राइवेट पार्ट में भी हत्यारों ने वार किए थे। उसकी प्राइवेट पार्ट में ही चाकू जैसी कोई नुकीली चीज का टुकड़ा पाया गया है। अब पुलिस की जांच ने दो तरफा़ मोड़ ले लिया है। पहला यह कि हो सकता है अल्का का किसी व्यक्ति के साथ कोई संबंध हो। समय के साथ वह व्यक्ति अब इन संबंधों से छुटकारा पाना चाहता था और इसी कारण अल्का की हत्या कर दी।

दूसरा यह कि कोई था जिसे अल्का का किसी के साथ संबंध होना मंजूर नहीं था और उसी ने अपने मन की भड़ास निकालने के लिए पूरी योजना के साथ अल्का की हत्या कर दी। हत्यारे का जुर्म पकड़ा ना जाए। इसलिए इस पूरी वारदात को साथ में लूट का रूप दे दिया। इन दोनों में से हत्यारा जो भी कोई है। वह अच्छी तरह से जानता था कि 12 बजे के बाद अल्का घर पर अकेली थी। पुलिस को ऐसा भी लग रहा है कि खुद अल्का ने ही किसी को फोन पर बताया हो कि उसके घर पर कोई नहीं है।

ऐसे की गई वारदात
शुक्रवार दोपहर को एक घर में घुसे लुटेरों ने 25 साल की महिला अल्का का रेप करके बेरहमी के साथ हत्या कर लाखों रुपए के गहने और नकदी लूट ले गए थे। लुटेरों ने पहले उसके मुंह में करंट लगाया और फिर कोई तेजधार हथियार उसके पेट में घोंप दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। अलमारियों से 20 से 25 तोले सोने के गहने, चार किलो चांदी, 60 हजार रुपए नकदी और अन्य सामान गायब था। हालात कहते हैं कि अल्का ने लुटेरों का जमकर विरोध किया जिस कारण उसकी हत्या कर दी गई।

क्या हुआ था घटना के रोज 
अल्का शादीशुदा थी और ससुराल के साथ अनबन के कारण पिछले पांच सालों से अपने मायके में ही रह रही थी। गुलमोहर एवेन्यू में धर्मपाल अपनी पत्नी सुदेश, बेटा गौरव और बेटी अल्का के साथ रहते हैं। बेटे गौरव की कुछ ही महीने पहले शादी हुई है। धर्मपाल परिवार के सभी सदस्यों के साथ दोपहर करीब 12 बजे अपने रिश्तेदार को मिलने के लिए मजीठा चले गए। अल्का को घर पर अकेली थी। रिश्तेदार के घर पहुंचने पर अल्का की मां ने बेटी को फोन किया लेकिन मोबाइल बंद था। इस पर मां ने सोचा कि शायद वह सो गई हो। थोड़ी देर के बाद फिर से फोन किया, लेकिन फिर से नहीं मिला। करीब चार बजे पड़ोस के लड़के को अल्का के भाई ने फोन कर बोला कि घर जाकर देखे। क्योंकि अल्का का फोन नहीं लग रहा। पड़ोसी के लड़के ने फोन पर बताया कि दरवाजा खुला है और कुत्ता भौंक रहा है। शक होने पर सभी लोग तुरंत घर वापस आ गए और देखा तो कमरे में अल्का की लाश पड़ी थी। सभी कमरों का सामान बिखरा पड़ा था।
Share on :

addthis2

-----------
 
Copyright © 2015 The Bhaskar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah