तीन थानों की पुलिस ने वसूले एक दिन मे 50 हजार का जुर्माना

सीधी। परिवहन मंत्री के आदेश के बाद शुरू हुए वाहनों की जांच पड़ताल मुसाफिरों के लिये जी का जंजाल बना हुआ है। सफर करना हर तरफ से मुस्किल हो रहा है। विना परमिट के बाहनों मे सफर किये तो जान गवाते है तो इसे रोकने के लिये की जा रही जांच के कारण जांच मे लगने बाले समय के चलते कई मील तक पैदल चलना पड़ रहा है। 

ऐसा ही नजारा रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र का सामने आया है जहां जांच के दौरान कई बाहनों को खड़ा करा लिया गया जिससे उसमे सफर कर रहे मुसाफिरों को पैदल चलकर दुर दुसरे बाहनों का सहारा लेना पड़ा तव कही जाकर अपने मजिल तक पहुंच सके है। रबिवार को पूरे जिले के थाना क्षेत्रों मे जांच पड़ताल की गई जिसमे कई बाहनो मे कमियां ही कमिया मिली तो उनपर जुर्माना लगाकर राजष्व की वसूली की गई है अकेले सिटी कोतवाली पुलिस ने 31 वाहनो की जांच किये जिसमे 3 बस 2 जीप एक आटो के रिकार्ड न होने पर थाना मे खड़ा करा लिया गया है जवकी अन्य बाहनों से 16000 हजार रूपये का राजष्व वसूल किया गया है। 

रामपुर नैकिन निरीक्षक डीएन राज ने जिले भर मे सवसे ज्यादा कार्यवाही की है उन्होने एक दिन मे रबिवार को अकेले 90 से ज्यादा बाहनों की जांच किये जिसमे 53 बाहन मे कमियां पाई गई जिनसे 27750रूपया जुर्माना वसूल किया गया तो तीन ट्रक जप्त किये गये है। मझौली थाना प्रभारी ने बसो पर कार्यवाही की है पर कितने बसे बिना परमिट और कितनी बसे छमता से ज्यादा सवारी चढाने के आरोप पकड़ी गई है इसका खुलासा देर रात पौने दस बजे तक नही किया गया है। बता दे की दुर्घनाओं के बाद कई जान चली गई थी तव से पूरे प्रदेष अभियान चलाया जा रहा है जुर्माना लगाया जा रहा बाहनों को जप्त किया जा रहा है लेकिन उन बाहनों पर कोई कार्यवाही नही की जा रही जो दिखने मे ही खटारा है उनको परमिट कैसे और कहा से दिया गया है ऐसे कर्मचारियो अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जरूरत है जो बिना बाहन को देखे ही लम्बी दूरी की परमिट जारी कर रहे है। तो बिना बाहन चालन का परीक्षण कराये ही लायसेन्स जारी कर रहे है।